Crime Sach News

Just another WordPress site

नगर सहकारी बैंक खुलते ही सोशल डिस्टेंस भूल गए खाताधारक*

1 min read

*क्राइम सच न्यूज़*

*ठूठीबारी/महाराजगंज*
नगर सहकारी बैंक ठूठीबारी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कराया जा रहा।बैंक के तरफ से खाताधारकों को बैठने की व्यवस्था और ना ही पानी पीने की व्यवस्था कि गई है।
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए देशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है।. जिससे रोज कमाने खाने वालों के लिए परेशानी हो गयी है। ऐसे लोग कई तरह की समस्याओं से जूझ रहे हैं। इस समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने गरीबों के लिए कई तरह की घोषणाएं की हैं। इस घोषणा में जनधन खाते में 500 रूपये, गैस सबसिडी भेजने की भी घोषणा की गयी है। सोमवार को बैंक खुलते ही लोगों की लंबी भीड़ लग गई । जनधन खाताधारकों के खाते में रुपए आने लगे हैं। इस रकम की निकासी के लिए बैंक के बाहर खाताधारकों की बड़ी भीड़ इकट्ठा होने लगी है। देश के सामने लॉकडाउन एक बड़ी चुनौती बनकर खड़ा हो गया है। अपनी जरूरतों का समान लेने के लिए लोग सड़क पर उतर भी रहे हैं। जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। लोग सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियम की भी खुलकर अनदेखी कर रहे हैं।
नगर सहकारी बैंक ठूठीबारी पर लंबी लाइन व भीड़ लगी रही लोग बड़ी तादाद में बैंक से पैसा निकालने के लिए अपने घरों से बाहर निकल पड़े है। सरकार के सामने एक तरफ कोरोना वायरस के खतरे से निपटने की चुनौती है, तो दूसरी तरफ लॉकडाउन को सफल बनाने की बड़ी जिम्मेदारी भी है। जिससे संक्रमण की चक्र को तोड़ा जा सके। इसीलिए देश में 21 दिन का लॉकडाउन किया गया है, लेकिन इसके साइड इफेक्ट दिखने लगे हैं। और आम लोगों को इससे परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों के घरों में रखा पैसा भी अब धीरे धीरे खत्म होने लगा है। जिसकी वजह से उन्हें बैंक जाना पड़ रहा है। लॉकडाउन की वजह से लोग घरों में कैद होने के लिए मजबूर हैं। , इससे परेशानी भी बढ़ती जा रही है। इसी वजह से पैसा निकालने के लिए नगर सहकारी बैंक ठूठीबारी पर बाहर सैकड़ों की संख्या में भीड़ लग गई। लोग बड़ी संख्या में पैसा निकाने के लिए अपने घरों से बाहर निकल पड़े। सोशल डिस्टेंसिंग के मायने भी समझाए, लेकिन इनके अंदर कोरोना फैलने का डर नहीं था। बल्कि बैंक से पैसा ना मिलने का खौफ ज्यादा था।
कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। महाराजगंज जिले में भी 6 केस मिले है। ठूठीबारी कोतवाली पुलिस बी अपनी तरफ से लोगों को समझाने की कोशिशों में जुटे हैं। लोगों ने कहा इस विकट परिस्थितियों में पैसे की सख्त जरूरत है।नहीं चल पा रहा है घर का काम।
क्राइम सच न्यूज़ संवाददाता ने जब कतार में खड़े लोगो से बात चीत की तो खाते से पैसा निकालने आए खाताधारकों ने लॉकडाउन की वजह से काम बंद है। जिससे घर में कई प्रकार की समस्या उत्पन्न हो गयी है। घर में पैसे नहीं हैं, उसी दौरान एक महिला ने बताया कि न्यूज़ देखने से सूचना मिली कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनधन खाते में कुछ पैसे भेजे हैं, जिसे निकालने आयी हूं। इस परस्थिति में पैसे इतने जरूरी हैं कि लोग डिस्टेंसिंग भूल गये। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण लोगों का रोजी-रोजगार चौपट हो गया है। जिससे लोगों के सामने विकट स्थिति उत्पन्न हो गयी है। इसलिए जैसे ही यह सूचना मिली कि जनधन खाते में राशि आयी है, उसे निकालने के लिए लोगों की भीड़ लग गयी। नगर सहकारी बैंक ठूठीबारी के अंदर जब संवाददाता ने प्रवेश किया तो वहा भी सोशल डिस्टेंसिंह का पालन नहीं किया जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2020 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 7080822042