Crime Sach News

Just another WordPress site

निचलौल थाने की पुलिस अपनी पुलिसिया रौब झाड़ने में कभी नही चूकती

1 min read

निचलौल (महराजगंज):-निचलौल में एक तरफ तो नगर वासियो के साथ सरकारी फरमान के अनुसार पुलिस को पुलिस मित्र की संज्ञा दे सभी से सम्मान पूर्वक बात करने का निर्देश जारी होता है तो वही पुलिस अपनी पुलिसिया रौब झाड़ने में कभी भी नही चूकती ।थाने पर आए दिन दलाल किस्म के लोग किसी नगर वासी की हल्की सी शिकायत कर दी तो पुलिस विभाग कार्यवाही करने में कोई चूक नही करती ।तो वही दूसरी तरफ निचलौल कस्बा जो तस्करो का इस समय हब बना हुआ है उस पर कार्यवाही करने के नाम पर कोशो दूर नजर आती है इतना ही नही बैठाए गए ब्यक्ति के सम्बंध को अगर कोई जानकारी मांगले तो मानो सबसे बड़ा गुनहगार वही है जब कि थानों पर लगाये गए मानवाधिकार के बड़े बड़े बोर्डो में अस्पष्ट दर्शाया गया है की किसी भी व्यक्ति को ग्रिफ्तार करने के तत्काल बाद उसके परिजनों को तत्काल सूचित किया जाए पर मानो वह लगा बोर्ड मात्र थाने के दीवारों की शोभा बनाने हेतु लगाई गई हो बताते चले की ऐसा ही एक वाकिया आज दिनांक 15 दिसम्बर को उस समय देखने को मिला जब नगर के मिट व्यवसायी को निचलौल थाने पर अकारण ला कर बैठा दिया गया जिसके सम्वन्ध में रिपोर्टर फोन पर जानना चाहा तो माननीय थाने के बड़े साहब जी बस इतना कह कर फोन काट दिए कि उसे सीओ साहब ने बैठवाया है बस फोन कट सायद साहब को बात करने की भी फुर्सत न हो ऐसा भी नही की ओ किसी कार्य मे व्यस्त हो तो अपने आवास पर आराम फरमा रहे थे सिर्फ उनका मन नही था बात करने का अब सवाल यह उठता की ओ कौन सी पुलिस मित्र है जिससे मित्रवत व्यवहार की आशा किया जाए फिर हाल जो भी हो पर निचलौल पुलिस व सीओ साहब के व्यवहार की चर्चा तो बनी ही हुई है क्यो की दलाल जो उनके प्रचार प्रसार में कोई कमी नही छोड़ते इतना ही नही बड़े से बड़े मामलों में डील भी इन्ही के द्वारा कराया जाता है चाहे तो काली मिर्च की तस्करी हो या सुपाड़ी की या शराब की तस्करी हो बस डील होनी चाहिए सबसे हैरत की बात तो यह है कि जिस रेत खनन पर राज्य सरकार ने पूणतया प्रतिवंध लगा रखा है उसे भी निचलौल पुलिस धत्ता बताते हुए सेंचुरियन एरिया से एक रसूखदार नेता के प्रभाव में धड़ल्ले से जारी है खुलेआम थाने के पास से या अगल बगल से आप बालू लदे ट्राली देख सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Categories

You may have missed